चंडीगढ़ : फूड पार्क के लिए मिलेगा 55 करोड़ कर्ज, राज्य सरकार की गारंटी प्रदान करने का प्रस्ताव को मंजूरी

Advertisement

चंडीगढ़ : October. 17. 2020।। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में हुई राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में रोहतक मेगा फूड पार्क परियोजना की स्थापना के लिए राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) से हरियाणा राज्य सरकार आपूर्ति एवं विपणन प्रसंघ लिमिटेड (हैफेड) द्वारा 55 करोड रुपए का ऋण लेने हेतु राज्य सरकार की गारंटी प्रदान करने का प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई। यह परियोजना हरियाणा राज्य सहकारी आपूर्ति एवं विपणन प्रसंघ लिमिटेड (हैफेड) द्वारा केंद्रीय खाद्य प्रसंस्‍करण उद्योग मंत्रालय की मेगा फूड पार्क योजना के तहत औद्योगिक मॉडल टाउनशिप रोहतक में स्थापित की जा रही है।

Advertisement

यह परियोजना 50 एकड़ में फैली हुई है। इसमें एमएसएमई के लिए 24 स्टैंडर्ड डिजाइन फैक्ट्री (एसडीएफ) शैड के अलावा 450 से 4050 वर्ग मीटर तक के 80 प्लॉट हैं। इस मेगा फूड पार्क में निवेशकों द्वारा मल्टी क्रॉप प्रोसेसिंग लाइन (सब्जी और फल), रेडी टू ईट फूड, स्‍पाइस प्रोसेसिंग एंड पैकेजिंग, आयल एक्सटैक्‍शन, कैनिंग, बेकरी, इंटीग्रेटेड मिल्क प्रोसेसिंग-टेट्रा पैकेजिंग यूनिट, एनिमल फीड फॉम्‍रयूलेशन यूनिटस आदि से संबंधित इकाइयां लगाई जा सकती हैं। इस परियोजना के भाग के रूप में जिला यमुनानगर के मानकपुर, जींद के नरवाना और रेवाड़ी के बावल में तीन प्राथमिक प्रसस्‍करण केंद्र (पीपीसी) भी स्थापित किए जाने हैं।

राज्य सरकार के निर्णय के अनुसार इस परियोजना के सिविल कार्य एचएसआईआईडीसी द्वारा 30 करोड रुपए की लागत से एचएसआईआईडीसी द्वारा, जबकि प्लांट और मशीनरी संबंधी कार्य लगभग 23.50 करोड रुपए की लागत से लागत से हैफेड द्वारा निष्पादित किए जा रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here