Home Sonipat सोनीपत पुलिस के मोस्टवांटेड हुए विदेश में बैठे चार आतंकवादी

सोनीपत पुलिस के मोस्टवांटेड हुए विदेश में बैठे चार आतंकवादी

Advertisement

उग्रवादियों को टास्क देकर टारगेट किलिग कराने के आरोपित

खालिस्तान समर्थक उग्रवादियों को टास्क देकर टारगेट किलिग कराने के आरोपित चारों आतंकवादी अब सोनीपत पुलिस के मोस्टवांटेड हो गए हैं। पाकिस्तान कनाडा और आस्ट्रेलिया में छिपे आतंकवादियों को लाने के लिए आइबी गृह मंत्रालय एनआइए और इंटरपोल की मदद ली जाएगी। इसके लिए पुलिस ने जरूरी पत्रावली शासन को भेज दी है। वहीं कुछ अन्य दस्तावेज एनआइए के माध्यम से भेजे जाने हैं। डीपी आर्य सोनीपत खालिस्तान समर्थक उग्रवादियों को टास्क देकर टारगेट किलिग कराने के आर

Advertisement

आरोपित चारों आतंकवादी अब सोनीपत पुलिस के मोस्टवांटेड

खालिस्तान समर्थक उग्रवादियों को टास्क देकर टारगेट किलिग कराने के आरोपित चारों आतंकवादी अब सोनीपत पुलिस के मोस्टवांटेड हो गए हैं। पाकिस्तान, कनाडा और आस्ट्रेलिया में छिपे आतंकवादियों को लाने के लिए आइबी, गृह मंत्रालय, एनआइए और इंटरपोल की मदद ली जाएगी। इसके लिए पुलिस ने जरूरी पत्रावली शासन को भेज दी है। वहीं, कुछ अन्य दस्तावेज एनआइए के माध्यम से भेजे जाने हैं। इस मामले में चारों के अलावा अन्य आतंकवादियों के नाम भी सामने आ सकते हैं। इसके लिए गोपी को प्रोडक्शन वारंट पर लेने की तैयारी की जा रही है।

जानकारी एसएसपी राहुल शर्मा को दी गई

पंजाब में दिसंबर में हुई टारगेट किलिग के कुछ मामलों में आइबी, एनआइए और पंजाब पुलिस को आतंकी मिलीभगत मिली थी। आरंभिक जांच में आतंकियों के इशारों पर टारगेट किलिग की वारदातों को अंजाम देने वाले उग्रवादियों के तार सोनीपत से जुड़े पाए गए। उसकी जानकारी एसएसपी राहुल शर्मा को दी गई थी। एसएसपी ने सीआइए-वन के इंस्पेक्टर बिजेंद्र सिंह को इसका जिम्मा सौंपा था। जांच में सामने आया कि पाकिस्तान, कनाडा और आस्ट्रेलिया में बैठे आतंकवादियों के निर्देश पर देश में अस्थिरता फैलाने को टारगेट किलिग की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा था। सीआइए-वन के इंस्पेक्टर बिजेंद्र सिंह की टीम ने जुआं गांव के सागर उर्फ बिन्नी, सुनील उर्फ पहलवान, जतिन कुमार और राजपुर के सुरेंद्र उर्फ सोनू को गिरफ्तार करके एक एके-47, पांच विदेशी पिस्तौल व एक देशी पिस्तौल बरामद की थी। उग्रवादियों को फर्जी आइडी उपलब्ध कराने वाले तरुण कुमार को भी जुआं गांव से गिरफ्तार कर लिया गया था। सीआइए की जांच में सामने आया कि उग्रवादियों को हथियार पंजाब के मोगा के रहने वाले गुरप्रीत सिंह उर्फ गोपी ने अंबाला में उपलब्ध कराए थे। अभी खुलेंगे राज सागर उर्फ बिन्नी को टारगेट पाकिस्तान में छिपे आतंकवादी लखवीर सिंह रोड, कनाडा में छिपे हरदीप सिंह निज्जर और पाकिस्तान में छिपे गुरजंट सिंह जंटा और अर्शदीप सिंह से मिल रहे थे। इनके निर्देश पर ही गोपी को हथियार उपलब्ध कराए जा रहे थे। फिलहाल पुलिस का प्रयास गोपी को प्रोडक्शन वारंट पर लाने का है। गोपी से पूछताछ के बाद ही पता चल सकेगा कि किस आतंकी संगठन ने उसको हथियार उपलब्ध कराए थे। सागर के अलावा गोपी अन्य किन उग्रवादियों के संपर्क में था। ऐसे में विदेश में छिपे चार आतंकवादियों के अलावा अन्य के नाम भी सामने आ सकते हैं।

विदेश से लाने की प्रक्रिया है जटिल

चारों आतंकवादी फिलहाल सोनीपत पुलिस के मोस्टवांटेड हैं। चारों के नाम पुलिस रिपोर्ट में हैं। उन पर कई गंभीर धाराओं के साथ ही देश को अस्थिर करने की धाराएं भी जोड़ी गई हैं। उग्रवादी सागर उसके साथियों से आइबी, एनआइए और पंजाब पुलिस की टीम पूछताछ कर चुकी है। इनको एनआइए कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया गया है। हालांकि पूरे मामले की जांच अभी भी सोनीपत पुलिस कर रही है। पुलिस ने विदेशों में बैठे आतंकवादियों के देश को अस्थिर करने में शामिल होने, उनके हथियार उपलब्ध कराने और वारदातों को अंजाम देने की विधिवत जानकारी शासन को भेजी जा चुकी है। इस गंभीर मामले की रिपोर्ट आइबी, एनआइए और गृह मंत्रालय के पास है। इसके साथ ही आतंकवादियों को विदेश से लाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। हालांकि यह प्रक्रिया बेहद जटिल होने के चलते आतंकवादियों को लाने में समय लगेगा।

——-

विदेश में छिपे चारों आतंकवादी हमारे अपराधी हैं। उनको लाने के लिए हर जरूरी कार्रवाई की जा रही है। हमने अपनी रिपोर्ट संबंधित एजेंसियों को भेज दी है। कुछ जरूरी रिपोर्ट अभी भेजी जा रही हैं। हमारा प्रयास है कि आतंकवादियों को जल्द ही देश में लाया जा सके।

– राहुल शर्मा, एसएसपी, सोनीपत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

error: Content is protected !!