सिविल अस्पताल की नई बिल्डिंग का काम अधूरा:15 तक काम पूरा न करने पर डीसी ने ठेकेदार को फटकार लगाई, सीएम फ्लाइंग ने जांच के लिए रिकॉर्ड कब्जे में लिया

Advertisement

सिविल अस्पताल की नई बन रही बिल्डिंग का काम पूरा न होने पर डीसी ने ठेकेदार को फटकार लगाई। इस दौरान ठेकेदार को सख्त लहजे में कहा कि हर हाल में 31 दिसंबर तक काम पूरा किया जाए। हालांकि इस तरह की डेडलाइन कई बार ठेकेदार को दी जा चुकी है लेकिन काम अब तक पूरा नहीं हुआ। हालांकि इसके पीछे सरकारी तंत्र भी जिम्मेदार है क्योंकि अभी 11 करोड़ रुपए के बिल पास होने बाकी हैं। इससे काम में तेजी नहीं आ रही है। डीसी राहुल हुड्डा सिविल अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे थे। बिल्डिंग का काम पूरा न होने पर उन्होंने वहीं पर ठेकेदार को फटकार लगाई।

Advertisement

उधर, दोपहर करीब दो बजे सीएम फ्लाइंग की टीम भी सिविल अस्पताल पहुंची। टीम ने बिल्डिंग से संबंधित रिकार्ड सीएमओ आफिस से कब्जे में लिया। सीएम फ्लाइंग की टीम बिल्डिंग निर्माण में हुई अनियमितताओं और बजट खर्च में हुई अनियमितताओं की जांच कर रही है। हालांकि कई माह से यह जांच कर रही है, लेकिन अभी तक कुछ नतीजा नहीं निकला।

डीसी बोले, समय बर्बाद हो रहाः डीसी राहुल हुड्डा ने मुकुंद लाल जिला अस्पताल का निरीक्षण किया और ठेकेदार को सख्त निर्देश दिए कि बिल्डिंग के निर्माण कार्य करने का रवैया ठीक नहीं है। लेट लतीफी से समय बर्बाद हो रहा है। जनवरी से पहले-पहले पूरी बिल्डिंग स्वास्थ्य विभाग को हैंडओवर की जाए। उन्होंने कार्यकारी अभियंता पीडब्ल्यूडी और सीएमओ से गहनता से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि बिल्डिंग का निर्माण कार्य देरी से चल रहा है, जिससे बिल्डिंग की कमी के कारण कार्य भी प्रभावित हो रहा है। उपायुक्त ने ठेकेदार और पीडब्ल्यूडी अधिकारी को सख्त निर्देश दिए कि एक ब्लॉक के कार्य को 15 दिसंबर तक पूरा करें और दूसरा कार्य जनवरी तक स्वास्थ्य विभाग को हैंडओवर करें।

2018 से चल रहा काम
नया भवन करीब 100 करोड़ से बन रहा है। यह चार मंजिला बिल्डिंग बनाई जा रही है जिसमें प्रत्येक फ्लोर पर 50 बेड की सुविधा होगी। जनरल मेडिसिन के लिए 34 बेड, पीडियाट्रिक के 12 बेड, आइसोलेशन वार्ड के छह बेड, जनरल सर्वे के लिए 20 बेड, ऑर्थो सर्जरी के लिए 20 बेड, गायनी वार्ड के लिए 40 बेड, आई और ईएनटी वार्ड के लिए छह बेड, बर्न वार्ड के दो बेड, साइकेट्रिक वार्ड के चार बेड, प्रिजनर वार्ड के चार बेड बनेंगे। ग्राउंड फ्लोर पर रिसेप्शन, इंक्वायरी, हेल्प डेस्क, रजिस्ट्रेशन काउंटर व इमरजेंसी लैब ग्राउंड फ्लोर पर होगी। ग्राउंड फ्लोर पर मेट्रन रूम व नर्सिंग सिस्टर रूम होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here