‘बेअदबी के दोषियों को सार्वजनिक फांसी दो’ : नवजोत सिंह सिद्धू ने तोड़ी चुप्पी।

Advertisement

पंजाब में कथित बेअदबी की कोशिशों के बाद दो युवकों की लिंचिंग पर जहां सभी नेताओं ने चुप्पी साधी हुई है, इसी बीच पंजाब कांग्रेस प्रमुख नवजोत सिंह सिद्धू ने दोषियों को सार्वजनिक तौर पर फांसी से लटकाने की मांग की है। रविवार को मलेरकोटला में एक रैली को संबोधित करते हुए, सिद्धू ने कहा कि बेअदबी के मामलों ने लोगों की भावनाओं को आहत किया है और इस मामलों में दोषी लोगों को सार्वजनिक फांसी दी जानी चाहिए। उन्होंने आरोप लगाया कि ‘एक समुदाय के खिलाफ साजिश’ और कट्टरपंथी ताकतें पंजाब में शांति भंग करने की कोशिश कर रही हैं।
सिद्धू का बयान ऐसे समय आया है, जब पंजाब के ज्यादात्तर नेता विधानसभा चुनाव से पहले इस मामले पर बहुत सावधानी से प्रतिक्रिया दे रहे हैं। अधिकांश प्रमुख राजनीतिक हस्तियों ने कथित बेअदबी के प्रयासों की कड़ी निंदा की है और उनके पीछे एक साजिश की ओर इशारा किया है. लेकिन आरोपियों की मॉब लिंचिंग पर बोलने से बच रहे हैं।

Advertisement

24 घंटे के अंदर पंजाब में बेअदबी का दूसरा मामला, अब कपूरथला में पीट-पीटकर युवक की हत्या।

मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी ने भी कथित बेअदबी के प्रयासों की निंदा की है, लेकिन लिंचिंग पर चुप ही रहे. मुख्यमंत्री ने रविवार को अमृतसर में स्वर्ण मंदिर का दौरा किया, जहां पहली घटना हुई थी. उनके आधिकारिक हैंडल से ट्वीट गया था कि उन्होंने आश्वासन दिया है कि “असली साजिशकर्ताओं का पर्दाफाश करने के लिए मामले की पूरी जांच की जाएगी”. उन्होंने लोगों से “सतर्क” रहने और “सभी धार्मिक स्थलों का ख्याल रखने” की अपील की.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here