बारिश बनी आफत:बरसात से सड़कें रही जलमग्न, रूट बदलकर निकलना पड़ा

Advertisement

जिले के कुछ एरिया में बुधवार देर रात तेज बारिश हुई, जाे गुरुवार सुबह 7 बजे तक रुक-रुक कर चलती रही। बरसात के कारण मॉडल टाउन समेत कई कॉलोनियों की सड़कें जलमग्न रही। मॉडल टाउन में स्थिति ज्यादा खराब रही। यहां से गुजर रहे नाले की नियमित सफाई एजेंसी की ओर से कराई जा रही है। इसके बाद भी यहां बरसात के दिनों में पानी सड़क पर जमा रहा।

Advertisement

ब्रेज़ा गाड़ी में 24 पेटी शराब बिलासपुर पुलिस ने ज़ब्त की,ड्राइवर कार छोड़कर भागा

शक्ति नगर में सड़क पर पानी भरने से लाेगों को रूट बदल कर कन्हैया चौक के पास घूम कर आना पड़ा। वीरवार सुबह भी एजेंसी के कर्मी नाले की सफाई करते नजर आए। यहां बने हुडा काॅम्प्लेक्स की पार्किंग तक पानी आया। जिससे यहां कीचड़ हो गया। वाहन चालकों को वाहनों को पार्क करने में दिक्कत आई। यहां सब्जी की रेहड़ियां भी नहीं लग पाई।

ओपीडी रूम और मेडिकल स्टोर पर भरा पानी
बारिश से सिविल अस्पताल यमुनानगर की ओपीडी स्लिप काउंटर एरिया में पानी भर गया। यहां अस्पताल का मुख्य मेडिकल स्टोर भी है। पानी भरने से पहले तो सुबह समय पर ओपीडी स्लिप नहीं बन पाई। वहीं, बाद में टीम को ओपन में बैठाकर मैनुअल स्लिप बनवाई गई। इस दौरान वहीं दवाइयां रखकर मरीजों को दी गई। सिविल सर्जन डॉ. मनजीत सिंह का कहना है कि मरीजों को किसी तरह की दिक्कत नहीं आने दी गई।

सरोजनी कॉलोनी फेज वन में डॉक्टरों के घरों के आगे पानी भरा
सरोजनी कॉलोनी फेज वन (संत निश्चल सिंह स्कूल के पीछे) में बारिश से दो दो फीट तक पानी था। यहां कई डॉक्टर ने मकान बनाए हुए हैं। सुबह सभी डॉक्टर अपने अस्पताल में राउंड पर जाने लगे तो बाहर पानी भरा होने से नहीं जा पाए। एक अस्पताल में तो इमरजेंसी में आए पेशेंट को देखने भी डॉक्टर नहीं जा पाया। इस एरिया से शहर का सबसे बड़ा नाला निकल रहा है, लेकिन इसकी सफाई न होने से ये हालत बने।

गोविंदपुरी सब स्टेशन के ट्रांसफार्मर में खराबी, लगे बिजली कट:बरसात से बिजली लाइनों में फाॅल्ट से बिजली कर्मी भी रहे परेशान, वहीं, ट्रांसफार्मर से फ्यूज उड़ने के मामले भी ज्यादा रहे

वहीं, दड़वा दड़वा डेयरी कॉम्प्लेक्स में एक बार फिर से पानी भर गया। यहां सड़क और डेयरियों में दो दो फीट तक पानी भर गया। इससे डेयरी संचालकों को परेशानी हुई। सुबह वे दूध निकालने के लिए नहीं आ पाए और लोगों को समय पर दूध नहीं मिला। प्रधान जितेंद्र लांबा का कहना है कि अधिकारी और मेयर दो दिन पहले आए थे और दौरा कर चले गए, लेकिन कोई सुधार नहीं हुआ।

खिजराबाद में सर्वाधिक बरसात
खिजराबाद में सर्वाधिक 85 एमएम बरसात हुई। जगाधरी में 58 एमएम बरसात दर्ज की गई। इससे जगाधरी के रेलवे बाजार, स्कूल रोड, देवी भवन बाजार सहित कई एरिया की सड़क जलमग्न रही। यहां भी नाले की सफाई समय से की गई थी। फिर भी सड़कों पर पानी काफी देर भरा रहा। जगाधरी में 58, बिलासपुर 7, छछरौली 36, सरस्वतीनगर 5, साढौरा 10 व खिजराबाद में 85 एमएम बारिश हुई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here