जिला सचिवालय पहुंचे किसानों के लिए बंद किए गेट। डीसी ने जताई आपत्ति।

Advertisement

यमुनानगर में यूरिया खाद की किल्लत को लेकर किसान जिला सचिवालय के मेन गेट पर बैठ गए। 2 घंटे गेट पर ही डटे रहे किसान। किसानों के पहुंचने से पहले ही पुलिस ने अंदर से गेट बंद कर दिया। जिससे गुस्साए किसानों ने गेट में संगल डालकर गेट बाहर से बंद कर दिया। डीसी पार्थ गुप्ता ने गेट पर ताला लगाए जाने पर आपत्ति जताई। डीसी पार्थ गुप्ता ने एसडीएम सुशील कुमार से पूछा कि गेट किसने और क्यों बंद करवाया। गेट को पहले ही खुलवा दिया गया लेकिन बाद में डीसी स्वयं किसानों के बीच पहुंचे और गेट बंद किए जाने पर खेद व्यक्त किया। एसडीएम ने भी कहा कि इसके लिए वह माफी मांगते हैं। डीसी ने आश्वासन दिया कि रविवार तक सभी को-ऑपरेटिव सोसाइटी व केंद्रों पर खाद पहुंच जाएगा। किसानों ने सरस्वती शुगर मिल की ओर से गन्ने की पर्चियां नियमित रूप से ना मिलने पर भुगतान संबंधी समस्या भी उठाई। मिल की ओर से भी आश्वासन दिया गया कि किसानों को किसी तरह की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी। डीसी ने कहा कि मिल संबंधी समस्याओं के समाधान के लिए बुधवार को दोपहर 2:00 बजे से शाम 5:00 बजे व सप्ताह में 1 दिन एसडीएम व कृषि उप निर्देशक स्वयं मिल में बैठेंगे।

Advertisement

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here