कर्मचारियों की गांधीगिरी : सड़कों पर खड़ी रेहड़ी संचालकों को हाथ जोड़कर स्ट्रीट वेंडिग जोन में भेजा

Advertisement

यमुनानगर : शहर की सड़कों पर फ्रूट, सब्जी व अन्य सामान बेच रहे रेहड़ी संचालकों को समझाने के लिए कर्मचारी गांधीगिरी का सहारा ले रहे हैं। हाथ जोड़ संचालकों को समझाकर निगम कर्मियों ने स्ट्रीट वेंडिग जोन में भेजा, लेकिन फिर भी वह सड़कों पर खड़े होकर फ्रूट, सब्जी व अन्य सामान बेच रहे हैं। सड़कों पर रेहड़ियां खड़ी होने से जाम की स्थिति बनती है।

Advertisement

ब्रांड न्यू टाटा सफारी ने आदमी को, टाटा सफारी के चारों टायर ऊपर, पत्रकार पर भड़के लोग बोले देर से क्यों आए 😱

शहर को अतिक्रमण मुक्त बनाने के लिए अभियान चलाया गया है। इसके तहत सीएसआइ अनिल नैन, हरजीत सिंह व सुरेंद्र चौपड़ा के नेतृत्व में अतिक्रमण हटाओ दस्ते बनाए हुए हैं। वह क्षेत्र में अतिक्रमण हटाने व लोगों को अतिक्रमण न करने के प्रति जागरूक कर रहे है। मंगलवार को सीएसआइ अनिल नैन के नेतृत्व में बनी टीम रामकेश, अमर सिंह, राकेश व होमगार्ड के जवानों ने रेलवे रोड व शहर की विभिन्न सड़कों पर खड़े रेहड़ी वालों को वेंडिग जोन में पहुंचाया और उन्होंने दोबारा सड़कों पर खड़ा होकर अतिक्रमण न करने के प्रति जागरूक किया। मेयर मदन चौहान ने बताया कि रेहड़ी संचालकों व शहरवासियों की सुविधा के लिए हमने अलग अलग स्ट्रीट वेंडिग जोन बनाए है। शहर थाना यमुनानगर के सामने जोन बनाया गया है। जहां शहरवासी खाने, पीने व नानवेज ले सकते है। कालड़ा मार्केट के सामने, रेलवे स्टेशन चौक के पास, प्यारा चौक, जब्बी वाला गुरुद्वारा के पास फ्रूट रेहड़ी मार्केट बनाई गई है। जहां लोग फल व सब्जी खरीद सकते हैं। रेहड़ी संचालकों से अपील की है कि वह स्वयं ही स्ट्रीट वेंडिग जोन में शिफ्ट हो जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here