करनाल में 9 दिन बाद क्रब से निकाला शव:दफनाने के बाद परिवार ने लगाया हत्या का आरोप; पोस्टमॉर्टम आज

Advertisement

हरियाणा में करनाल के मुंडोगढ़ी में युवक की मौत के बाद परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है। पुलिस ने मौत के 9 दिन बाद युवक का शव कब्र खोदकर बाहर निकाला। हत्या के आरोप गांव के ही एक युवक पर लगे हैं। इतना ही नहीं आरोपी की तरफ से मृतक के छोटे भाई को जान से मारने तक की धमकी दी गई, एक को तो मार दिया, दूसरे को भी मार देंगे।

Advertisement

पीड़ित परिवार दहशत में है। उसने पुलिस से न्याय की गुहार लगाई है। पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर करनाल की मोर्चरी में रखवा दिया है। पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपी के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। आज पोस्टमॉर्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा जाएगा।

कब्र खोदकर मृतक के शव को निकालने पहुंची पुलिस।
कब्र खोदकर मृतक के शव को निकालने पहुंची पुलिस।

पिता की जुबानी, पूरी कहानी
गांव मुंडोगढ़ी निवासी 26 वर्षीय सारिक पुत्र साकिर ट्रक ड्राइवर का काम करता है, वह किसी एक जगह पर काम नहीं करता, वह दिहाड़ीदार की तरह ड्राइवरी करता है। सारिक के अब्बा साकिर ने बताया है कि उसका बेटा 27 जनवरी की सुबह 11 बजे अलग-अलग जगह से अपनी दिहाड़ी की पेमेंट लेकर आया था। उसके पास करीब 40 हजार रुपए थे।

जैसे ही सारिक आया तो उसकी मां ने उसे कहा कि बेटा, खाना खा लो, तुम बाहर से आए हो, लेकिन इसी दौरान गांव का आरिफ पुत्र इरफान घर पर आया और उसे अपने साथ लेकर गया। वह जल्दबाजी में उसकी बाइक पर बैठकर चला गया। साकिर ने बताया कि उसका बेटा शाम तक भी नहीं घर लौटा था।

उन्होंने अंदाजा लगाया कि शायद किसी ट्रक वाले ने दिहाड़ी पर बुला लिया होगा। उन्होंने ऐसा कभी नहीं सोचा था कि उनके बेटे के साथ इस तरह की घटना हो सकती है।

यमुना किनारे मिला शव
साकिर ने बताया कि 28 जनवरी की सुबह करीब 7 बजे उसके बेटे का शव मुंडोगढ़ी में यमुना किनारे मिला। मेरी बहन नरूनिशा और मेरा छोटा बेटा अजीम यमुना पर पहुंचा। हमें सरपंच प्रतिनिधि सुलेमान ने बताया था कि तुम्हारा लड़का यमुना घाट पर मिला है, हमें दूर दूर तक भी एहसास नहीं था कि उसके साथ कुछ गलत हुआ है।

गांव के कब्रिस्तान से सारिक के शव को निकालती पुलिस।
गांव के कब्रिस्तान से सारिक के शव को निकालती पुलिस।

सुलेमान ही मृत हालात में सारिक को लेकर हमारे घर पहुंचा था, उसे मृत देख पूरे परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा था। रो-रोकर बुरा हाल था। हमें समझ ही नहीं आ रहा था कि हम क्या करें। हां, जब सारिक की गर्दन चेक की गई थी तो वह टूटी सी हुई थी। जिस पर उस समय ध्यान नहीं दिया गया था और शाम को शव को दफना दिया गया था।

गहराता गया शक और फिर पुलिस को दी शिकायत
पीड़ित पिता ने बताया कि उनको अपने गांव के आरिफ पर शक था और धीरे धीरे यह शक गहराता भी गया। इतना ही नहीं उसके छोटे बेटे को भी आरोपी ने धमकी दी थी कि अगर तुम पुलिस के पास गए तो दूसरे को भी जान से मार देंगे। जिसके बाद से ही परिवार डरा सहमा सा था। उन्होंने न्याय की गुहार सरपंच से भी लगाई थी, लेकिन कोई बात नहीं बन पाई।

लिहाजा उन्होंने पुलिस को शिकायत दी। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई और हत्या की धाराओं में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी। सोमवार शाम को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नगर पालिका सचिव प्रिंस कुमार की मौजूदगी में थाना प्रभारी नसीब सिंह FSL टीम के साथ कब्रिस्तान पहुंचे और शव को कब्र से बाहर निकाला। अपने कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

मौके पर पहुंची FSL की टीम।
मौके पर पहुंची FSL की टीम।

दो बच्चों का पिता था मृतक
​​​​​​​सारिक की शादी करीब 6 साल पहले बराड़ा जिला अंबाला की गुलशना के साथ हुई थी। इनके पास दो बच्चे हैं। जिसमें तीन साल का लड़का साकिब व डेढ़ साल की जोया है। पिता की मौत के बाद छोटे छोटे बच्चों के सिर से पिता का साया उठ गया। सारिक ही घर में अकेला कमाने वाला था।

डॉक्टरों की ओपिनियन पर होगी आगामी कार्रवाई
​​​​​​​घरौंड़ा थाना प्रभारी नसीब सिंह ने बताया कि शव को कब्र से बाहर निकाल लिया गया है और आज बोर्ड द्वारा युवक के शव का पोस्टमॉर्टम होगा। उसके बाद ही डॉक्टरों का जो ओपिनियन होगा, उसी के मुताबिक आगामी कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल पुलिस ने परिजनों की शिकायत के आधार पर हत्या का मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here