करनाल में बिजली निगम ने उड़ाए उपभोक्ता के होश:थमा दिया एक महीने का 52 हजार का बिल; पैर से लाचार व्यक्ति परेशान

Advertisement

हरियाणा के करनाल के असंध में एक उपभोक्ता को बिजली निगम ने 52 हजार का बिजली बिल भेजा। निगम की इस लापरवाही से पूरा परिवार सदमे में है, क्योंकि यह बिल कई महीनों का नहीं बल्कि सिर्फ एक माह का है। उपभोक्ता बिजली निगम के कार्यालय में पहुंचा, लेकिन उसे यह कह दिया गया कि आप को पूरा बिल भरना ही पड़ेगा। एक पैर से लाचार बुजुर्ग को समझ ही नहीं आ रहा है कि वह क्या करे।

Advertisement

हालांकि अधिकारियों ने इसे क्लेरिकल मिस्टेक बताया है और बिल को जल्दी ही ठीक करने का आश्वासन भी दिया है। लेकिन उपभोक्ता को अपना बिजली बिल ठीक करवाने के लिए बार-बार चक्कर काटने पड़ सकते है। हालांकि बिजली निगम का यह कोई पहला कारनामा नहीं है, इससे पहले भी इस तरह के अनोखे बिल उपभोक्ताओं तक पहुंचते रहे हैं। इनको ठीक करवाने के लिए उपभोक्ताओं को पसीने पसीने तक होना पड़ जाता है।

बिजली निगम द्वारा उपभोक्ता जारी किए गए 52138 रुपए का बिल।
बिजली निगम द्वारा उपभोक्ता जारी किए गए 52138 रुपए का बिल।

मेहनत मजदूरी का करता है काम

असंध के ढोल चौक निवासी बिजली उपभोक्ता गुरचरण ने बताया कि वह मेहनत मजदूरी का काम करता है। उसके पास बिजली निगम की तरफ से हर महीने बिजली का बिल ऑनलाइन आता है। उसके स्मार्ट मीटर में एक से लेकर 2 हजार तक के बीच बिल आता है, लेकिन उसके पास जब आज उसके पास बिल का मैसेज आया तो उसकी आंखें फटी की फटी रह गई। बिल का अमाउंट ही 52 हजार रुपए था।

बिजली बिल देखकर वह सकते में है। बार-बार सोच रहा था कि उसने इस महीने में ऐसा कौन सा उपकरण चला दिया, जो उसके इतना भारी भरकम बिल भेज दिया गया। उसने सभी तरह की जांच पड़ताल की, लेकिन कुछ नहीं समझ में आया। दफ्तर पहुंचा तो अधिकारियों ने कहा कि इस बिल को ठीक नहीं किया जा सकता। यह बिल पिछला रुका हुआ था, वह अब जुड़ कर आ गया है, यह भरना ही पड़ेगा। इतना कर सकते है कि बिल दो किस्तों में कर सकते हैं।

बिजली निगम की लापरवाही भुगतेगा उपभोक्ता

2 साल पहले ही बुजुर्ग ने अपने घर पर मीटर लगवाया और तभी से उसके पास बिल आ रहा है, लेकिन अचानक से उसके पास 52 हजार का बिल आ गया। दूसरा महकमा भी कोई समाधान नहीं कर रहा। बुजुर्ग ने बताया कि वह अकेला अपनी पत्नी के साथ रहता है और घुटने में चोट के कारण काम भी नहीं करता पत्नी भी बीमार रहती है। और मैने क्या बिजली महकमे को यह बोला था मेरा बिल रोको। सारा बिल आ रहा था, वह मैं भर रहा था। उसने सरकार से मदद की गुहार लगाई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here